Latest Posts

उत्तर प्रदेश

PM मोदी आजमगढ़ की रैली में बोले ‘कोई माई का लाल CAA नहीं हटा सकता…’

3Views

आजमगढ़

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को उत्तर प्रदेश के दौरे पर हैं. इस दौरान पीएम मोदी ने आजमगढ़ में एक चुनावी सभा को संबोधित किया. उन्होंने नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को लेकर कहा कि कोई भी माई का लाल इस कानून को खत्म नहीं कर सकता.

पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र की सरकार ने CAA के तहत नागरिकता देने का काम शुरू किया है. जिन लोगों को नागरिकता दी जा रही है, उनमें अधिकतर हमारे दलित भाई-बहन हैं, ओबीसी और पिछड़ी जातियों के लोग हैं. इन लोगों पर वहां तो जुल्म हुआ ही लेकिन वोटबैंक की राजनीति में डूबी यहां की कांग्रेस की सरकारों ने भी इन लोगों की कभी सुध नहीं ली. इन पर जुल्म करने में कोई कमी नहीं रखी.

प्रधानमंत्री मोदी ने का कि कांग्रेस और समाजवादी पार्टी की सरकारों ने सीएए के नाम पर झूठ का पहाड़ खड़ा कर दिया. इन दलों ने यूपी सहित पूरे देश को दंगों की आग में झोंकने का पूरा प्रयास किया. इन लोगों ने सात दशकों तक हिंदू-मुसलमान किया. ये दल कह रहे हैं कि जब मोदी जाएगा तो सीएए को भी हटा दिया जाएगा. लेकिन मैं कहता हूं कि इस देश में अब कोई माई का लाल ऐसा नहीं है, जो सीएए को खत्म कर सके.

कोई माई का लाल CAA नहीं हटा सकता

उन्होंने कहा कि मैं साफ कर दूं कि चाहे कितनी भी ताकत लगा लो. मैं भी मैदान में हूं, तुम भी मैदान में हो. लेन आप सीएए नहीं मिटा पाओगे. आने वाले महीनों में बंगाल से लेकर दिल्ली, पंजाब तक हजारों शरणार्थी परिवारों के पास उनकी पहचान होगी. ये लोग जो अब अनाथ की तरह रहे हैं. लेकिन अब वे सम्मान के साथ रहेंगे.

पीएम मोदी ने कहा कि विपक्ष ने हिंदू-मुसलमान को लड़ा-लड़ाकर सेक्युलरिज्म का जो चोला पहना था, वो अब उतर गया है. मोदी ने आपका सेक्युलरिज्म का नकाब उतार दिया है कि आप ढोंगी हैं. आप सांप्रदायिक हैं. आपने सात दशकों तक देश को सांप्रदायिक आग में झोंक दिया.

उन्होंने कहा कि पिछले पांच-छह दशकों में कश्मीर देश के हर चुनाव का मुद्दा होता था. हर चुनाव में सभी दल कश्मीर के मुद्दे को भुनाते थे. आपने देखा होगा कि हमारे विरोधियों की बोलती बंद हो गई है. उनके मुंह पर ताला लग गया है. वे दबी जुबान में लोगों से कह रहे है ंकि मोदी जाएगा तो हम 370 वापस लेकर आएंगे. जिस तरह के चौथे चरण के चुनाव में श्रीनगर में वोटिंग हुई, वह गवाह है. चालीस साल के बाद वहां भारत के लोकतंत्र का उत्सव मनाया गया. संविधान का गौरवगान किया गया. मतदान करके लोग गर्व महसूस कर रहे हैं कि वे हिंदुस्तान की सरकार बनाने जा रहे हैं. अब कोई भी 370 को वापस लाकर वोटबैंक की राजनीति नहीं कर पाएगा. मोदी ने कश्मीर में शांति की गारंटी दी है. 370 की दीवार गिरा दी है.

आजमगढ़ को संदेह की नजरों से देखा जाता था!

पीएम मोदी ने कहा कि आज से दस साल पहले सामान्य व्यक्ति की सुरक्षा भगवान भरोसे होती थी. आतंकवाद और दंगे आजमगढ़ की पहचान बन गए थे. ना जाने किन-किन नामों से आजमगढ़ को बुलाया जाता था. आजमगढ़ को बदनाम कर दिया था. देश में कहीं भी बम धमाके होते थे. सबसे पहले लोगों का ध्यान आजमगढ़ की तरफ जाता था. यहां सपा की सरकार ने आजमगढ़ के लिए कुछ नहीं किया. तब सपा के शहजादे आतंक के समर्थन में दंगाइयों का सम्मान करते थे. धमाके करना वाले आतंकियों को छोड़ दिया जाता था. इसी रवैये की वजह से देशभर में आतंकवाद फला-फूला.

 

admin
the authoradmin