Latest Posts

उत्तर प्रदेश

नोएडा पुलिस का एक्शन ताबड़तोड़ एनकाउंटर, 48 घंटे में पकड़े गए आठ बदमाश

3Views

नोएडा

दिल्ली से सटे यूपी के नोएडा में पुलिस के ताबड़तोड़ एक्शन से बदमाश खौफ में हैं.  नोएडा पुलिस ने सिलसिलेवार मुठभेड़ों के बाद 48 घंटों के भीतर आठ अपराधियों को दबोचा है. इनमें से सात को मुठभेड़ में घायल होने के बाद पकड़ा गया है.

न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक अधिकारियों ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों में दिल्ली का एक लुटेरा भी शामिल है, जिसके खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के अलग-अलग पुलिस स्टेशनों में दो दर्जन से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं और 'ठक-ठक' गिरोह के दो सदस्य भी हैं.

पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि तीन मुठभेड़ों में से पहली मुठभेड़ बुधवार और गुरुवार की मध्यरात्रि को सेक्टर-39 पुलिस स्टेशन की सीमा में सेक्टर-96 जंक्शन के पास एक नियमित जांच के दौरान हुई.

पुलिस ने बताया, 'मोटरसाइकिल पर सवार तीन लोगों को पूछताछ के लिए रुकने का इशारा किया गया, इसके बाद संदिग्धों ने हाजीपुर अंडरपास की ओर भागने का प्रयास किया जिसके बाद उनका पीछा किया गया तो उन्होंने सर्विस रोड पर सिक्का मॉल के पास पुलिस पर गोलीबारी की." .

"पुलिस की जवाबी कार्रवाई में, दो बदमाश अरुण (खेरिया टप्पल, हाथरस ) और गौरव (दिल्ली के मीत नगर से) को पैरों में गोली लगी और उन्हें पकड़ लिया गया, जबकि तीसरा संदिग्ध, जो मौके से भाग गया था. बाद में तलाशी अभियान के दौरान उसे भी पकड़ लिया गया. पुलिस ने कहा कि उन्होंने तीनों के पास से 1 लाख रुपये नकद, बिना नंबर प्लेट की एक मोटरसाइकिल और गोला-बारूद के साथ दो अवैध हथियार बरामद किए.

एनकाउंटर के बाद पकड़े गए बदमाश

पुलिस और बदमाशों के बीच गोलीबारी की दूसरी घटना गुरुवार देर रात हुई, जब फेज-1 पुलिस स्टेशन के कर्मी सेक्टर-15ए की ओर जाने वाली सड़क पर गोल चक्कर चौकी के पास जांच कर रहे थे, तभी अपराधी से उनका सामना हो गया.

आरोपी ऋषभ दयाल, दिल्ली के फेज-3 इलाके में मयूर विहार का निवासी है, उसने पुलिस पर गोलीबारी की, लेकिन मुठभेड़ में उसके पैर में गोली लग गई और उसे पकड़ लिया गया. उसका आपराधिक इतिहास रहा है और वो कई मामलों में आरोपी है. अधिकारी ने कहा, ''नोएडा और गाजियाबाद में डकैती, चोरी और अवैध हथियार रखने का उस पर राय है. पुलिस के अनुसार, उसके कब्जे से एक .315 बोर की देशी पिस्तौल, एक जिंदा कारतूस, तीन मोबाइल फोन जब्त किए गए और उसका स्कूटर जब्त कर लिया गया. तीसरी मुठभेड़ शुक्रवार तड़के बिसरख थाना क्षेत्र के रोजा याकूबपुर के पास हुई, जब नियमित जांच के दौरान स्थानीय पुलिस ने मोटरसाइकिल पर दो लोगों को पूछताछ के लिए रुकने का इशारा किया.

इसके बाद संदिग्धों ने रोजा याकूबपुर की ओर भागने का प्रयास किया, जिसके बाद उनका पीछा किया गया. इसी दौरान उनकी बाइक फिसल गई और गिर गए. दीपक उर्फ ​​​​बंटी और रवि कुमार ने पुलिस पर गोलीबारी करते हुए भगाने की कोशिश करने लगे जिसके बाद पुलिस ने उनके पैरों में गोली मार दी और घायल होने पर पकड़ लिया.

पुलिस ने कहा कि उन्होंने दोनों के पास से दो .315 बोर की देशी पिस्टल, गोला-बारूद, 18,850 रुपये नकद जब्त किए है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि चौथी मुठभेड़ की घटना शुक्रवार देर रात एक्सप्रेसवे पुलिस स्टेशन क्षेत्र में गुलशन मॉल के पास हुई जहां दो लोगों को पूछताछ के लिए रोकने पर वो भागने लगे.

जब पुलिस ने उनका पीछा किया, तो दोनों ने पुलिस टीम पर गोलियां चला दीं, लेकिन पुलिस पार्टी की जवाबी फायरिंग में उन्हें गोली लग गई. घायलों की पहचान दिल्ली के रहने वाले दीपक और हापुड के रहने वाले तरुण के रूप में हुई है, जो ठक-ठक गिरोह के सक्रिय सदस्य हैं. ऐसे ही अन्य मुठेभड़ में कुल 8 अपराधियों को गिरफ्तार किया है.

 

admin
the authoradmin