मध्य प्रदेश

पहली बार मुख्यमंत्री डा. मोहन यादव की पहल पर क्षेत्रीय औद्योगिक कॉन्क्लेव की शुरुआत हो रही

7Views

भोपाल
मध्य प्रदेश में निवेश को आकर्षित करने के लिए अभी तक ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन होता रहा है पर पहली बार मुख्यमंत्री डा. मोहन यादव की पहल पर क्षेत्रीय औद्योगिक कॉन्क्लेव की शुरुआत हो रही है। एक मार्च को उज्जैन में विक्रम महोत्सव के साथ यह दो दिवसीय कॉन्क्लेव होगा, जिसमें फार्मास्युटिकल, खाद्य प्रसंस्करण, डेयरी, धार्मिक पर्यटन, मेडिकल डिवाइस सहित अन्य क्षेत्रों में निवेश की संभावनाओं पर फोकस किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विक्रम महोत्सव, औद्योगिक कॉन्क्लेव का शुभारंभ और विक्रमादित्य वैदिक घड़ी का लोकार्पण करेंगे। वे कार्यक्रम से वर्चुअली जुड़ेंगे।
 
प्रदेश में औद्योगिक विकास के लिए सरकार की योजना संभागीय मुख्यालयों पर अधोसंरचना का विकास कर औद्योगिक गतिविधियां बढ़ाने की है। इसके लिए भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर के स्थान पर अन्य संभागीय मुख्यालयों में क्षेत्रीय औद्योगिक कॉन्क्लेव किए जाएंगे। इसकी शुरुआत एक मार्च को उज्जैन से होने जा रही है। ग्वालियर के बाद पहली बार उज्जैन व्यापार मेले में वाहन खरीदने पर पंजीयन शुल्क और रोड टैक्स में 50 प्रतिशत की छूट दी जाएगी। इसके लिए दशहरा मैदान में चार पहिया आटोमोबाइल की 101, दो पहिया आटोमोबाइल की 30 और इलेक्ट्रानिक्स क्षेत्र की 21 दुकानें लगेंगी। एक मार्च को क्षेत्रीय औद्योगिक कॉन्क्लेव का शुभारंभ होगा। इसमें निवेश की संभावनाओं पर प्रस्तुतीकरण होगा। इसमें धार्मिक पर्यटन, चिकित्सा उपकरण के क्षेत्र में संभावनाओं पर बात होगी। उद्योगपतियों के साथ वन टू वन चर्चा होगी।

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के अधिकारियों का कहना है कि उज्जैन क्षेत्र में हमारे पर सवा दो हजार एकड़ भूमि उपलब्ध है। क्लस्टर विकसित कर औद्योगिक विकास को गति देने की मंशा से काम किया जा रहा है। कोई निवेश यदि निवेश करने की इच्छा जताता है तो भूमि आवंटन आदि की प्रक्रिया मौके पर ही प्रारंभ कर दी जाएगी। रोजगारमूलक उद्योगों को प्राथमिकता दी जाएगी।

admin
the authoradmin