छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़: राजा देवेंद्र प्रताप सिंह BJP के राज्यसभा उम्मीदवार, संभाग की चारों लोकसभा सीटों पर फोकस

3Views

बिलासपुर/रायपुर.

छत्तीसगढ़ बीजेपी ने एक सीट पर राज्यसभा सांसद के लिए उम्मीदवार घोषित कर दिया है। रायगढ़ के राज परिवार से राजा देवेंद्र प्रताप सिंह को राज्यसभा का उम्मीदवार बनाया है। इसके साथ ही पार्टी ने 14 राज्यसभा सीटों के लिए भी उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं। प्रदेश से राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय का कार्यकाल अप्रैल में खत्म हो रहा है। वहीं चुनाव आयोग ने राज्यसभा चुनाव की तारीख का एलान कर दिया है।

विश्व विख्यात संगीत सम्राट रायगढ़ नरेश स्वर्गीय चक्रधर सिंह के प्रपौत्र देवेंद्र प्रताप सिंह को बीजेपी ने छत्तीसगढ़ से राज्यसभा उम्मीदवार बनाया है। वो लैलूंगा के गोंड (आदिवासी) राजा हैं। उनके पिता सुरेन्द्र कुमार सिंह कांग्रेस का प्रतिनिधित्व करते थे। वो दो दशक से भी अधिक समय तक लैलूंगा के विधायक रहे। एक बार राज्यसभा सदस्य भी रहे। उनके पुत्र राजा देवेन्द्र प्रताप सिंह ने कांग्रेस की जगह बीजेपी का दामन थामा। वो 20 साल से लगातार पार्टी के लिए कार्य कर रहे हैं। उन्होंने लैलूंगा सीट से विधानसभा टिकट के दावेदारी भी की थी।

राजनीतिक विरासत
राजा देवेंद्र प्रताप सिंह रायगढ़ जिला पंचायत सदस्य, रायगढ़ स्थित जगन्नाथ मंदिर ट्रस्ट के ट्रस्टी, चक्रधर समारोह महोत्सव आयोजन समिति रायगढ़ के सदस्य और रेल मंत्रालय में रेलवे हिन्दी सलाकार समिती के सदस्य भी है। साथ ही बिलासपुर संभाग में जनजाति गौरव समाज के अध्यक्ष, जनजाति सुरक्षा मंच जिला रायगढ़ के संयोजक और जिला गोंड़ समाज रायगढ़ के संरक्षक भी हैं। देवेंद्र प्रताप सिंह वर्ष 2005-06 में अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश मंत्री, 2008 में प्रदेश भाजपा कार्यकारणी सदस्य उसके बाद साल 2011-12 में अनुसूचित जनजाति मोर्चा के रायगढ़ जिलाध्यक्ष और साल 2011 में ही अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य रह चुके हैं।

शिक्षा
राजकुमार कॉलेज रायपुर से प्रारंभिक शिक्षा, सेंट स्टीफन्स कॉलेज दिल्ली दिल्ली विश्व विद्यालय से इतिहास में स्नातकोत्तर किया। वर्तमान में वे रुड़केला लैलूंगा में निवासरत हैं। देवेंद्र प्रताप सिंह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और धर्म जागरण मंच के विभिन्न दायित्व का निर्वहन कर चुके हैं। वह रायगढ़ में हर साल आयोजित होने वाले प्रसिद्ध चक्रधर समारोह के आयोजन समिति के सदस्य भी हैं।

बिलासपुर संभाग से ही राज्यसभा उम्मीदवार क्यों?
राजनीतिक समीकरण देखें तो बिलासपुर छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा संभाग है। इस संभाग में 8 जिले और 25 विधानसभा सीट हैं। इसके साथ ही इस संभाग में 4 लोकसभा सीटें भी हैं। इसलिए बीजपी बस्तर और सरगुजा संभाग के बाद अब बिलासपुर संभाग पर फोकस कर रही है। पार्टी ने यहीं के रायगढ़ जिले से राजघराने के राजा देवेंद्र प्रताप सिंह को राज्यसभा उम्मीदवार बनाया है। बीजेपी ने पहले ही सरगुजा से सीएम, बिलासपुर संभाग और दुर्ग संभाग से दो डिप्टी सीएम बनाया है। बीजेपी का बिलासपुर संभाग से राज्यसभा उम्मीवदवार के बहाने इस संभाग की चारों लोकसभा सीटों पर फोकस है। राज्यसभा चुनाव के साथ ही पार्टी लोकसभा चुनाव पर भी नजर गड़ाई हुई है। यानी 'एक पथ दो काज' वाली कहातवत चरित्रार्थ होते दिख रही है।
राजनीतिक पंडितों की मानें, तो बीजेपी का इस बार राज्यसभा चुनाव के साथ ही बिलासपुर संभाग पर ज्यादा फोकस है। राज्यसभा चुनाव के कुछ महीने बाद ही लोकसभा चुनाव भी होने हैं। छत्तीसगढ़ में लोकसभा की कुल 11 सीटें हैं, जिनमें 4 सीटें केवल बिलासपुर संभाग से ही हैं। इसमें से 3 पर बीजेपी का कब्जा और एक सीट कांग्रेस के खाते में है। इस वजह से पार्टी राज्यसभा चुनाव के बहाने लोकसभा चुनाव को लेकर भी बिलासपुर संभाग पर विशेष फोकस की हुई है।

बिलासपुर संभाग में 4 लोकसभा सीट-
    बिलासपुर
    रायगढ़
    कोरबा
    जांजगीर-चांपा

27 फरवरी को वोटिंग और नतीजे भी इसी दिन
छत्तीसगढ़ समेत 15 राज्यों की कुल 56 राज्यसभा सीटों पर 27 फरवरी को वोटिंग कराई जाएगी। सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान कराए जाएंगे। इन 56 राज्यसभा सांसदों का अप्रैल 2024 में कार्यकाल खत्म हो रहा है। 15 फरवरी नामांकन की आखिरी तारीख है। छत्तीसगढ़ की एक राज्यसभा सीट के लिए 27 फरवरी को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक वोटिंग कराई जाएगी। इसी दिन नतीजे भी घोषित कर दिए जाएंगे। इस संबंध में चुनाव आयोग 8 फरवरी को अधिसूचना जारी करेगा। नामांकन पत्रों की जांच की तारीख 16 फरवरी है। उम्मीदवार 20 फरवरी तक नाम वापस ले सकते हैं। छत्तीसगढ़ में राज्यसभा की कुल 5 सीटें हैं।

राज्य की 11 लोकसभा सीट और उसमें शामिल विधानसभा क्षेत्र-
1. सरगुजा (अजजा)- कुल आठ विधानसभा क्षेत्र (सामान्य-03, अजजा- 05)
   – प्रेमनगर, भटगांव, अंबिकापुर, प्रतापपुर, रामानुजगंज, सामरी, लुंड्रा, सीतापुर।
2. रायगढ़ (अजजा)- कुल आठ विधानसभा क्षेत्र (सामान्य- 02, अजजा-05, अजा- 01)
   – जशपुर, कुनकुरी, पत्थलगांव, रायगढ़, खरसिया, लैलूंगा, धरमजयगढ़, सारंगढ़।
3. जांजगीर (अजा)- कुल आठ विधानसभा क्षेत्र (सामान्य-06, अजा- 02)
    – कसडोल, बिलाईगढ़, अकलतरा, जांजगीर-चांपा, सक्ती, जैजैपुर, चंद्रपुर, पामगढ़।
4.  कोरबा (सामान्य) कुल आठ विधानसभा क्षेत्र (सामान्य- 04, अजजा- 04)
    – भरतपुर-सोनहट, मनेंद्रगढ़, बैकुंठपुर, रामपुर, पाली-तानाखार, कोरबा, कटघोरा, मरवाही।
5.  बिलासपुर (सामान्य) कुल आठ विधानसभा क्षेत्र (सामान्य- 06, अजा- 02)
    -कोटा, लोमरी, तखतपुर, बिल्हा, बिलासपुर, बेलतरा, मुंगेली, मस्तूरी।
6. राजनांदगांव  (सामान्य) कुल आठ विधानसभा क्षेत्र (सामान्य-06, अजजा-01, अजा-01)-
   – पंडरिया, कवर्धा, खैरागढ़, राजनांदगांव, डोंगरगांव, खुज्जी, डोंगरगढ़, मोहला-मानपुर।
7. दुर्ग (सामान्य) कुल नौ विधानसभा क्षेत्र (सामान्य- 07, अजा-02)
   – पाटन, भिलाई नगर, वैशाली नगर, दुर्ग ग्रामीण, दुर्ग शहर, साजा, बेमेतरा, अहिवारा, नवागढ़।
8. रायपुर (सामान्य) कुल नौ विधानसभा क्षेत्र (सामान्य- 08, अजा- 01)
    – बलौदाबाजार, भाटापारा, धरसींवा, रायपुर पश्चिम, रायपुर उत्तर, रायपुर दक्षिण, रायपुर ग्रामीण, अभनपुर, आरंग।
 9.  महासमुंद (सामान्य) कुल आठ विधानसभा क्षेत्र (सामान्य- 06, अजा- 02)
    – बसना, खल्लारी, महासमुंद, सराइपाली, राजिम, बिंद्रानवागढ़, कुरूद, धमतरी।
10.  बस्तर (अजजा) कुल आठ विधानसभा क्षेत्र (साामान्य- 01, अजजा- 07)
     – जगदलपुर, कोंडगांव, बस्तर, चित्रकोट, नारायणपुर, बीजापुर, दंतेवाड़ा, कोंटा।
11.  कांकेर (अजजा) कुल आठ विधानसभा क्षेत्र (सामान्य- 01, अजजा 07)
      – सिहावा, संजरी- बालोद, गुंडरदेही, डोंडीलोहारा, अंतागढ़, भानुप्रातापुर, कांकेर, केशकाल।
 
बिलासपुर जिले में कुल 6 विधानसभा सीट-
    बिलासपुर
    कोटा
    मस्तूरी
    बेलतरा
    बिल्हा
    तखतपुर

admin
the authoradmin