Latest Posts

देश

वैश्विक नेताओं से क्यों कराते हैं गंगा आरती? नामांकन से ठीक पहले इंटरव्यू में PM मोदी ने बताया

7Views

काशी वासियों ने मुझे बनारसिया बना दिया है…निजी टीवी चैनल बोले  बातचीत में बोले PM मोदी
नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक निजी टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि मैंने G20 में एक प्रयोग किया था. मैंने तय किया था कि मैं G20 को मोदी तक सीमित नहीं रखूंगा. मैं G20 को दिल्ली तक सीमित नहीं रखूंगा. हमने G20 की देश के अलग-अलग स्थानों पर 200 मीटिंग की. उसका परिणाम ये हुआ कि G20 का काम तो हुआ लेकिन वैश्विक नेताओं को देश की विविधता के बारे में भी पता चला.

पीएम मोदी ने कहा कि अगर मैं कमर्शियल या फाइनेंशियल माइंड से सोचूं तो ये देश 140 करोड़ का मार्केट है, जो गंगा स्नान के लिए जाना चाहता है, चारधाम जाना चाहता है, द्वादश ज्योतिर्लिंग जाना चाहता है और जो अष्टगणेश की पूजा करना चाहता है. ऐसे में मैंने इसमें इकोनॉमी भी देखी है और भविष्य भी देखा है. जब आप अपनी चीजों का गौरव या सम्मान करते हैं तो सारी दुनिया भी आपका सम्मान करती है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को लगातार तीसरी बार वाराणसी से नामांकन करने जा रहे हैं. नामांकन से पहले पीएम मोदी ने आजतक को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में वाराणसी, लोकसभा चुनाव और मां गंगा के महत्व सहित कई मुद्दों पर बातचीत की.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैंने G20 में एक प्रयोग किया था. मैंने तय किया था कि मैं G20 को मोदी तक सीमित नहीं रखूंगा. मैं G20 को दिल्ली तक सीमित नहीं रखूंगा. हमने G20 की देश के अलग-अलग स्थानों पर 200 मीटिंग की. उसका परिणाम ये हुआ कि G20 का काम तो हुआ लेकिन वैश्विक नेताओं को देश की विविधता के बारे में भी पता चला.

पीएम मोदी ने कहा कि जी20 के दौरान दुनियाभर के तकरीबन एक लाख लोग भारत आए थे. ये लोग दुनिया के महत्वपूर्ण देशों की निर्णय प्रक्रिया में महत्व रखने वाले लोग थे. इन लोगों ने सारा देश देखा. उन्हें पता लगा कि ये देश इतना बड़ा और विविधताओं से भरा हुआ है. तो इस तरह मैंने अपने देश की ब्रांडिंग के लिए G20 का उपयोग किया.

उन्होंने कहा कि दुनिया का कोई भी नेता आता है, मैं उनसे गंगा आरती करवाता हूं. मैं ऐसा करके उनका हिंदूकरण नहीं कर रहा हूं. मैं उनको प्रकृति के प्रति हमारा प्यार क्या है, हम प्रकृति के प्रति कितने समर्पित हैं, ये दर्शाता हूं. हम प्रकृति का विनाश करने वाले लोग नहीं हैं. हम प्रकृति का संरक्षण करने वाले लोग हैं. दुनिया ग्लोबल वॉर्मिंग की चिंता करती है लेकिन मैं उनको गंगा आरती करके दिखाता हूं कि ग्लोबल वॉर्मिंग का समाधान प्रकृति के प्रति भक्ति में है.

देशवासियों को ईश्वर मानता हूं
पीएम का कहना था कि शायद परमात्मा ने स्वयं मुझे किसी काम के लिए भेजा है. परमात्मा ने भारतभूमि के लिए मुझे चुना और एक प्रकार से मैं सारे संबंधों से विरक्त होकर हर काम को परमात्मा की पूजा समझकर करता हूं. मैं 140 करोड़ देशवासियों को ईश्वर का रूप मानता हूं. परमात्मा ने मुझे जितना जीवन दिया है, उसका एक-एक क्षण और शरीर का एक-एक कण सिर्फ और सिर्फ मां भारती के लिए है.

मां ने दो चीजें हमेशा याद रखने के लिए कही थीं
पीएम मोदी का कहना था कि मां हमेशा मुझसे पूछती थीं कि काशी विश्वनाथ जाते हो या नहीं? मां जब 100 साल की हुई थी और मैं उनके जन्मदिन पर उनसे मिलने गया था तो मां ने मुझे कहा कि जीवन में दो चीजें हमेशा ध्यान रखना. रिश्वत लेना नहीं और गरीब को भूलना नहीं. काम करें बुद्धि से और जीवन जियो शुद्धि से पीएम ने यह भी साफ कहा कि चुनाव में राम मंदिर पहले भी मुद्दा नहीं था, आगे भी नहीं रहेगा. राम मंदिर श्रद्धा का मुद्दा है. चुनाव का नहीं है.

राहुल गांधी वायनाड से भी भागे
पीएम ने कहा, देश ने कहा है कि 400 पार करो. हम 400 पार का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं. उन्होंने कहा, UP में कांग्रेस का खाता भी नहीं खुलेगा. गांधी परिवार सिर्फ मीडिया के लिए एक महत्वपूर्ण परिवार है. राहुल गांधी वायनाड से भी भाग गए हैं.  केरल भी अब राहुल गांधी को पहचान चुका है. अमेठी से हारे तो कभी अमेठी नहीं गए थे. यूपी की जनता राहुल गांधी, अखिलेश यादव को पहचान चुकी है.

admin
the authoradmin