Latest Posts

मध्य प्रदेश

आज पंचतत्व में विलीन होंगी माधवी राजे सिंधिया, कुछ देर में ग्वालियर लाई जाएगी पार्थिव देह

7Views

 ग्वालियर

पूर्व केंद्रीय मंत्री माधव राव सिंधिया की पत्नी और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मां राजमाता माधवी राजे का बुधवार को निधन हो गया। वे 76 वर्ष की थीं। उनकी पार्थिव देह दिल्ली से ग्वालियर लाई गई। यहां रानी महल में दोपहर तीन बजे तक अंतिम दर्शन।

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मां (Jyotiraditya Scindia Mother) और सिंधिया राजघराने की राजमाता माधवी राजे सिंधिया (Madhavi Raje Scindia) का अंतिम संस्कार आज सिंधिया राजपरिवार के छत्री परिसर में किया जाएगा. उनका अंतिम संस्कार उनके स्वर्गीय पति माधवराव सिंधिया के नजदीक होगा. माधवी राजे के अंतिम संस्कार (Madhavi Raje Scindia Funeral) की तैयारियां पूरी कर ली गई है. उनकी अंतिम यात्रा में वीवीआईपी लोगों के आने की उम्मीद जताई जा रही है, जिसके चलते सुरक्षा और ट्रैफिक व्यवस्था के खास इंतजाम किए गए हैं.

दिल्ली से विशेष विमान से आएगा पार्थिव शरीर

जयविलास पैलेस के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, माधवी राजे का पार्थिव शरीर एक विशेष विमान से सुबह 10 बजे दिल्ली एयरपोर्ट से रवाना होगा. इस विमान में राजमाता के बेटे ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) और उनका परिवार (Scindia Family) मौजूद रहेगा. पौने दस बजे विमान ग्वालियर एयरपोर्ट (Gwalior Airport) पहुंचेगा. जहां से 11.45 बजे माधवी राजे का पार्थिव शरीर ग्वालियर (Gwalior) के जयविलास पैलेस (Jai Vilas Palace) स्थित रानी महल लाया जाएगा. दोपहर ढाई बजे तक उनके पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा. इसके बाद उनका अंतिम संस्कार होगा.

माधवराव के नजदीक होगा अंतिम संस्कार

जानकारी के मुताबिक, दोपहर 3 बजे माधवी राजे की अंतिम यात्रा शुरू होगी. इसके बाद उन्हें सिंधिया परिवार के छत्री परिसर लाया जाएगा. जहां उनका हिन्दू रीति रिवाज और मराठा पद्धति से अंतिम संस्कार किया जाएगा. आपको बता दें कि इस छत्री में माधवराव सिंधिया और उनकी मां विजया राजे सिंधिया का अंतिम संस्कार भी किया जा चुका है. सिंधिया परिवार की यह छत्री जयविलास पैलेस से महज एक किलोमीटर दूर शाही दशहरा मैदान से ठीक पहले स्थित है.

प्रशासन ने की खास तैयारी

माधवी राजे सिंधिया के निधन की सूचना मिलते ही ग्वालियर नगर निगम, पुलिस और प्रशासन तत्काल सक्रिय हो गया. कलेक्टर रुचिका सिंह चौहान और एसपी धर्मवीर सिंह ने अंतिम यात्रा वाले मार्ग पर पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया. कलेक्टर ने बताया कि पूरे रूट और छत्री स्थल पर यातायात, पार्किंग और सुरक्षा व्यवस्था के लिए व्यापक प्रयास किए जा रहे हैं.

admin
the authoradmin