Latest Posts

मध्य प्रदेश

ऑडियो के चक्कर में चली गई मैडम की थानेदारी, रीवा एसपी का चला ‘डंडा’

8Views

रीवा
 चाकघाट थाना प्रभारी उषा सोमवंशी का एक ऑडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था। वायरल ऑडियो क्लिप में वह एक फरियादी को धमका रही थीं। वह उसे जूते मारने की धमकी दे रही थीं। ऑडियो वायरल होने के बाद लेडी टीआई उषा सोमवंशी ने भी सफाई दी थी। साथ ही कहा था कि उसे तोड़मरोड़ कर पेश किया गया। फरियादी अपने पिता को परेशान कर रहे थे। मेडिकल रिपोर्ट में ऐसी कोई इंज्यूरी नहीं थी, इसलिए एनसीआर काटकर दे दिया गया था। वहीं, चाकघाट थाना प्रभारी की शिकायत फरियादी ने एसडीओपी से की थी, जिन्होंने जांच के बाद कार्रवाई का भरोसा दिया था।

एसपी ने किया लाइन अटैच

ऑडियो वायरल होने के बाद लेडी टीआई उषा सोमवंशी की थानेदारी चली गई है। इस मामले में रीवा एसपी विवेक सिंह ने कार्रवाई की है। उन्होंने लेडी टीआई उषा सोमवंशी को लाइन अटैच कर दिया है। वहीं, उनकी जगह चाकघाट थाने का प्रभार उप निरीक्षक संजीव शर्मा को दिया गया है। संजीव शर्मा ही अभी चाकघाट थाने का काम देखेंगे।

ये था आरोप

दरअसल, पड़री गांव निवासी अभय द्विवेदी अपने पिता के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाने के लिए चाकघाट थाने का चक्कर लगा रहा था। थाना प्रभारी से मुलाकात के बाद भी तीन दिनों तक उसकी एफआईआर दर्ज नहीं हुई। तीसरे तीन थाना प्रभारी उषा सोमवंशी ने फोनकर उसके साथ बदसलूकी की। साथ ही कहा कि अगर पिता ने एक मारे हैं तो मैं तुझे दो जूते मारूंगी। इसका ऑडियो वायरल हो रहा था।

टीआई ने दी थी सफाई

इसके साथ ही वायरल ऑडियो पर टीआई उषा सोमवंशी ने भी सफाई दी थी। उन्होंने कहा था कि उसे ऑडियो को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है। आठ मई को पड़री निवासी अभय द्विवेदी थाने पर आया था। उसने कहा था कि उसके पिता ने मारपीट की है। मारपीट इतना ज्यादा नहीं थी, मुंशी जी ने एनसीआर काटकर दिया था। बाद में गांव में हमने पता किया तो पता चला कि दोनों भाइयों में कूलर में पानी डालने को लेकर विवाद हुआ था। इनके पिता कवर्धा में हेड कॉन्स्टेबल के रूप में पदस्थ हैं। जमीन जायदाद को लेकर इनके बीच में झगड़ा चल रहा था। पिता पर ये लोग जमीन जायदाद अपने नाम पर कराने के लिए दबाव बना रहे थे। पिता ने भी इनके खिलाफ आवेदन दे रहे थे।

अभय द्विवेदी थाने पर अनावश्यक दबाव बना रहे थे। अब वे झूठा वीडियो वायरल कर रहे हैं। किसी राजनैतिक दबाव में काम नहीं किया जाता है। उनके पिता ने भी थाने में एक आवेदन दिया है। पिता ने बेटे की पढ़ाई पर काफी खर्च किया है। बेटों की वजह से वह मानसिक दबाव में रहते हैं। अभय द्विवेदी पुलिस पर झूठा आरोप लगा रहे हैं।

फरियादी ने की थी कार्रवाई की मांग

वहीं, फरियादी ने ऑडियो वायरल होने के बाद लेडी थानेदार पर कार्रवाई की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि मैं उनके व्यवहार से बहुत आहत हूं। सीनियर अधिकारियों से मिलकर कार्रवाई की मांग करूंगा। एसडीओपी उदित मिश्रा ने कहा था कि ऑडियो की जांच के बाद आगे की कार्रवाई की मांग की थी।

admin
the authoradmin