छत्तीसगढ़

18 लाख आवास का दावा, एक भी मकान नहीं बनाया : कांग्रेस, भूपेश सरकार ने योजना के पैसे रोककर गरीबों को मकान नहीं दिए : बीजेपी

4Views

रायपुर.

पीएम आवास को लेकर बीजेपी और कांग्रेस एक दूसरे पर हमलावर है। पक्ष और विपक्ष में आरोप-प्रत्यारोप का बाजार गर्म है। कांग्रेस का कहना है कि 18 लाख आवास बनाने का दावा करने वाली साय सरकार एक भी मकान नहीं बनाया है। इधर बीजेपी का कहना है सरकार बनते ही मोदी गारंटी को पूरा करते हुए गरीबों को मकान स्वीकृत किये गये हैं। भूपेश सरकार अपने कार्यकाल में योजना के पैसे को रोके रखा और गरीबों को मकान नहीं दिया।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार ने छत्तीसगढ़ सरकार के प्रधानमंत्री आवास के मकानों की संख्या को स्वीकृति ही नही दिया है। राज्य सरकार खुद ही संख्या की घोषणा कर अपनी पीठ थपथपा रही है। कांग्रेस मांग करती है कि सरकार के दावों में सच्चाई है तो स्वीकृत आवास हीनों के नाम सार्वजनिक किया जाये। मोदी सरकार बताये 18 आवासों में से कितने आवास केंद्र स्वीकृत किया? मोदी सरकार ने राज्य के 18 लाख आवासों में से 1 मकान की भी स्वीकृति नहीं दिया। 18 लाख प्रधानमंत्री आवास का दावा करने वाली भाजपा सरकार ने अभी तक एक भी हितग्राही के खाते में एक रुपया भी नहीं डाला है।
प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा सरकार के प्रधानमंत्री आवास केवल सरकारी विज्ञापनों और होर्डिंग में ही दिखते रहे हैं। हकीकत में भाजपा सरकार के आने के बाद एक भी हितग्राही के लिये आवास स्वीकृत नहीं हुआ है। पूर्ववर्ती कांग्रेस की भूपेश सरकार ने आवासहीनों के खाते में पहली किस्त डाली थी। उसके बाद भाजपा सरकार ने एक भी रुपयानहीं भेजा है।

'कांग्रेस राममंदिर के शुद्धिकरण बात कर भगवान श्रीराम का फिर किया अपमान'
महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने राम मंदिर को लेकर एक विवादित टिप्पणी की है। नाना पटोले ने कहा था कि कांग्रेस पार्टी और इंडिया गठबंधन की सरकार आएगी तो राम मंदिर का शुद्धिकरण किया जाएगा। जिस पर भाजपा के प्रदेश महामंत्री संजय श्रीवास्तव ने कहा प्रभु श्रीराम को सुप्रीम कोर्ट में काल्पनिक बताने वाली कांग्रेस ने एक बार फिर श्रीराम मंदिर के शुद्धिकरण का बयान देकर अपने हिंदू धर्म और सनातनी विरोधी मानसिकता को देश की जनता के सामने प्रमाणित कर दिया है। कांग्रेस अपनी तुष्टिकरण की राजनीति में इतनी विधर्मी हो गई है कि अब श्रीराम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा का न्यौता ठुकराने के बाद किसलिए शुद्धिकरण की बात कर रही है। उन्होंने कहा कांग्रेस अपनी होने वाली करारी हार से इतनी घबराई हुई है कि उसके नेता मानसिक संतुलन खो चुके हैं। कभी पीएम मोदी को गाली देने लग जा रहे हैं, तो कभी उनकी क्रब खोदने की बात करने लग जा रहे हैं। देश को बंटवारे की ओर ले जाने वाली कांग्रेस अब प्रभु श्रीराम का भी अपमान करने से नहीं चूक रही है। इसके लिए कांग्रेस को देश की जनता से माफी मांगना चाहिए। क्योंकि प्रभु श्रीराम हमारे देश की आस्था और अस्तित्व हैं।

admin
the authoradmin