उत्तर प्रदेश

वाराणसी से अजय राय, गाजियाबाद से डॉली शर्मा, इन दिग्गजों को उतारने की तैयारी में कांग्रेस

10Views

वाराणसी

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ सीट शेयरिंग फाइनल होने के तुरंत बाद कांग्रेस अब एक्शन में आ गई है. कांग्रेस को यूपी में गठबंधन के तहत मिली हैं और पार्टी ने इनमें से नौ सीटों पर उम्मीदवारों के नाम भी करीब-करीब तय कर लिए हैं. कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक प्रदेश अध्यक्ष अजय राय इस बार भी सूबे में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सबसे बड़े चेहरे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देते आ सकते हैं. अजय राय का वाराणसी सीट से पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ना करीब-करीब तय है.

कांग्रेस सूत्रों की मानें तो सहारनपुर लोकसभा सीट से इमरान मसूद, सीतापुर से राकेश राठौर का टिकट भी करीब-करीब पक्का है. इरमान मसूद को कांग्रेस ने 2019 में भी इसी सीट से उम्मीदवार बनाया था. तब इमरान मसूद तीसरे स्थान पर रहे थे. इमरान की गिनती कभी राहुल और प्रियंका गांधी के करीबियों में होती थी. हालांकि, 2022 के यूपी चुनाव से पहले वह पार्टी छोड़ गए थे. कांग्रेस से किनारा करने के बाद वह सपा से होते हुए बसपा में चले गए. बसपा ने कुछ महीने पहले इमरान मसूद को पार्टी से निष्कासित कर दिया था जिसके बाद वह फिर से कांग्रेस में लौट आए.

वहीं, सीतापुर से कांग्रेस पूर्व विधायक राकेश राठौर को उम्मीदवार बनाने की तैयारी में है. राकेश राठौर पूर्व विधायक हैं और बीजेपी से इस्तीफा देकर सपा होते हुए कांग्रेस में आए हैं. इसी तरह कांग्रेस लखनऊ से सटी बाराबंकी सीट से तनुज पूनिया, झांसी से पूर्व सांसद प्रदीप जैन, गाजियाबाद से डॉली शर्मा, महाराजगंज से विधायक वीरेंद्र चौधरी, फतेहपुर सीकरी से रामनाथ सिकरवार को चुनाव मैदान में उतारने की तैयारी में है. कानपुर नगर लोकसभा सीट से आलोक मिश्रा ,अजय कपूर ,विकास अवस्थी और करिश्मा में से किसी को उम्मीदवार बनाए जाने पर मंथन का दौर चल रहा है.

इसी तरह मथुरा, देवरिया, बांसगांव और बुलंदशहर सीट से पार्टी दो-दो नेताओं का नाम शॉर्टलिस्ट कर इनमें से किसी एक को उम्मीदवार बनाने पर विचार कर रही है. मथुरा से पूर्व एमएलसी प्रदीप माथुर और पंडित राजकुमार रावत के नाम टिकट की रेस में आगे हैं तो वहीं देवरिया से अखिलेश प्रताप सिंह और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू के नाम पर विचार चल रहा है. बांसगांव (सुरक्षित) सीट से कांग्रेस कमल किशोर या अनूप प्रसाद में से किसी एक को उम्मीदवार बना सकती है तो वहीं बुलंदशहर से बंसी सिंह के साथ एक और नाम रेस में है. प्रयागराज सीट से पार्टी के ओबीसी प्रकोष्ठ अध्यक्ष मनोज यादव का नाम चल रहा है.

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक रायबरेली और अमेठी सीट से उम्मीदवार का फैसला पार्टी नेतृत्व करेगा. इन सीटों के लिए कोई नाम शॉर्टलिस्ट नहीं किया गया है. कांग्रेस ने टिकट बंटवारे को लेकर अपने स्तर पर कवायद करीब-करीब कर ली है लेकिन टिकट पर अंतिम फैसला कांग्रेस संसदीय बोर्ड की बैठक में होगा और इसके बाद ही कांग्रेस अपने उम्मीदवारों का आधिकारिक ऐलान करेगी. कांग्रेस उम्मीदवारों का आधिकारिक ऐलान अभी होना बाकी है. देखना होगा कि यूपी कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक शॉर्टलिस्ट किए गए इन नामों में से कौन-कौन टिकट पाने में सफल रहता है.

 

admin
the authoradmin